उप जिलाधिकारी चकराता युक्ता मिश्रा ने आज त्यूनी क्षेत्र में इन विभागों का किया औचक निरीक्षण

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

देहरादून -उप जिलाधिकारी चकराता युक्ता मिश्रा ने आज त्यूनी क्षेत्रान्तर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र त्यूनी, लोक निर्माण विभाग कार्यालय, जल संस्थान, सब स्टेशन, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग शाखा प्रभारी उद्यान सचल दल केन्द्र का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

उप जिलाधिकारी के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र त्यूनी में निरीक्षण के दौरान पंजीकरण कक्ष में कार्मिक उपस्थित रहे। उपजिलाधिकारी ने उपस्थिति पंजिका के निरीक्षण के दौरान पाया कि कक्ष सेविका अप्रैल माह 2023 से निरन्तर कार्यालय से अनुपस्थित चल रही है। वहीं एक अन्य कार्मिक एवं चिकित्सक अनुपस्थित पाये गये। तथा 10 अप्रैल से उपस्थिति पंजिका में हस्ताक्षर नही किये गए थे

निरीक्षण के समय अस्पताल में ओ०पी०डी० रजिस्टर में भी कोई प्रविष्टि नहीं थी। स्पष्ट है कि ये पूर्व तिथियों में अनुपस्थित थे। इस आधार पर उप जिलाधिकारी ने इनके वेतन रोकने की कार्यवाही की संस्तुति की. वहीं एक चिकित्सक का चिकित्सा अवकाश पर होना बताया गया अस्पताल में चिकित्सकों वार्ड बॉय का नाईट ड्यूटी के लिए रोस्टर नहीं बनाया गया है।

चिकित्सक प्रभारी को तत्काल रोस्टर बनाये जाने हेतु निर्देशित किया गया। एक कार्मिक निरीक्षण के समय अस्पताल में उपस्थित नहीं थे। चिकित्सा प्रभारी द्वारा बताया गया कि वह रात्रि ड्यूटी में हैं। ए०एन०एम०, सहित 02 अन्य कार्मिकों का अवकाश पर होना बताया गया किन्तु अवकाश के सम्बन्ध में कोई प्रार्थना पत्र नहीं पाया गया है। स्टाफ नर्स निरीक्षण के समय अस्पताल पर उपस्थित रही, किन्तु उनके द्वारा उपस्थिति पंजिका पर 12 अप्रैल से हस्ताक्षर नही किये गये थे। स्वास्थ्य कार्यकर्ती द्वारा उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर नहीं किये गये है एक्सरे रूम में व प्रसूति कक्ष में कार्मिक उपस्थित थे। वहीं एक कार्मिक का रात्रि में ड्यूटी में होना बताया गया अस्पताल में एल्ट्रासाउण्ड मशीन हेतु कक्ष की व्यवस्था की गयी है।

प्रभारी चिकित्सक द्वारा बताया गया कि अस्पताल में स्वीपर नहीं होने के कारण साफ सफाई में कठिनाईयाँ उत्पन्न हो रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 03 एम्बुलेन्स खड़ी थी, जिसमें छोटी एम्बुलेंस खुशियों की सवारी व 02 चिकित्सालय की 108 एम्बुलेंस थी। प्रभारी चिकित्सक द्वारा बताया गया कि एम्बुलेंस वाहन संख्या यू.के. 07- जी. ए. 3177 का ड्राईवर नहीं है। प्रभारी चिकित्साधिकारी ने सफाई कर्मचारी की कमी की समस्या से अवगत कराया।

उप जिलाधिकारी ने प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी को अनुपस्थित कार्मिकों का वेतन रोकने व एम्बुलेंस, खुशियों की सवारियों के लिए वाहन चालक एवं अस्पताल के लिए सफाई कर्मचारी की व्यवस्था करने की आवश्यक कार्यवाही करने को कहा गया।

लोक निर्माण विभाग त्यूनी का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय सहायक अभियन्ता एवं कनिष्ठ अभियन्ता अनुपस्थित पाये गये। लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया कि त्यूनी में तैनात अभियन्ताओं को ही क्षेत्र में उपस्थित रहने को निर्देशित करें।

कनिष्ठ अभियन्ता उत्तराखण्ड जल संस्थान कार्यालय का निरीक्षण के दौरान नीलकंठ टेक्नोलॉजी आउट सोर्स से कम्प्यूटर ऑपरेटर व फीटर उपस्थित थे। कनिष्ठ अभियन्ता व वरिष्ठ फीटर निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाये गये। जल संस्थान कार्यालय पर उपस्थिति पंजिका, अवकाश पंजिका, भम्रण पंजिका का होना नहीं पाया गया है। कैश काउन्टर में कैश रजिस्टर पंजिका में माह जनवरी 2023 से कोई भी एन्ट्री होना नहीं पाया गया है। अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया कि अनुपस्थित अभियन्ता का वेतन रोकते हुए सभी रिकार्ड दुरूस्त करवाने की कार्यवाही करें।

सब स्टेशन 33/11 कार्यालय के निरीक्षण के समय सब स्टेशन ऑपरेटर कार्यालय में उपस्थित थे। उपस्थित कार्मिकों द्वारा बताया गया कि कार्यालय सब स्टेशन 33/11 का सब डिविजन कार्यालय चकराता में है। निरीक्षण के समय कनिष्ठ अभियन्ता अनुपस्थित पाये गये सब स्टेशन कार्यालय पर अवकाश पंजिका एवं भम्रण पंजिका का होना नहीं पाया गया है। उपस्थित सब स्टेशन ऑपरेटर द्वारा बताया गया कि दो कार्मिक सब स्टेशन ऑपेरटर की ड्यूटी रात्रि में है। वह आपस के ड्यूटी बदलते रहते हैं। कार्यालय में ड्यूटी निर्धारण किये जाने की पंजिका नहीं पायी गयी। अधिशासी अभियन्ता को अनुपस्थित कार्मिकों का वेतन रोकने की कार्यवाही करते हुए व्यवस्था सुधारने की आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।

उद्यान एवं खाध्य प्रसंस्करण विभाग शाखा प्रभारी उद्यान सचल दल केन्द्र के निरीक्षण के समय उद्यान सहायक , माली (संविदा) उपस्थित पाये गये उद्यान सहायक द्वारा अवगत कराया गया कि प्रभारी उद्यान सचल दल केन्द्र व उद्यान सहायक तहसील दिवस हेतु तहसील में है। उद्यान केन्द्र में उपस्थित ग्रामीण निवासी ग्राम बागी त्यूनी ने जानकारी देते हुए कहा कि उद्यान सचल केन्द्र में कीटनाशक दवाईयाँ उपलब्ध नहीं है, जिस के लिये ग्रमीणों को हिमाचल प्रदेश जाना पड़ता है, एंव उद्यान केन्द्र में कई बार आने पर उधान प्रभारी नहीं मिलते हैं। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि उद्यान केन्द्र में खराब दवाईयाँ आती है, और जो दवाईयाँ आती है, उनका कीट पर कोई असर नहीं होता है। मुख्य उद्यान अधिकारी देहरादून इस प्रकरण पर संज्ञान लेने के निर्देश दिए गए।

Verified by MonsterInsights