एसएसजे विश्विद्यालय में 24वीं वाहिनी यूके छात्रा बटालियन एनसीसी का वीरांगना फेस्ट का आयोजन हुआ

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

अल्मोड़ा-सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय,अल्मोड़ा में स्थापित 24वीं वाहिनी यू.के. छात्रा बटालियन एन.सी.सी. का ‘वीरांगना फेस्ट’ ऑडिटोरियम में आयोजन हुआ। जी 20 के अंतर्गत आयोजित हुए इस वीरांगना फेस्ट में 24वीं वाहिनी के उत्कृष्ट कैडेट्स को फेस्ट के अतिथियों ने रैंक पहनाकर जिम्मेदारी निभाने की बात कही। इस वीरांगना फेस्ट के मुख्य अतिथि रूप में 24 यूके गर्ल्स बटालियन के कमांडिंग अफसर कर्नल मनोज कुमार कांडपाल, संरक्षक रूप में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जगत सिंह बिष्ट, अधिष्ठाता प्रशासन प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट, कार्यक्रम संयोजक और परिसर की अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो.इला साह एवं बटालियन की एसोसिएट NCC ऑफिसर लेफ्टिनेंट डॉ ममता पंत , प्रो जया उप्रेती (,संकायाध्यक्ष, विज्ञान), प्रो भीमा मनराल (संकायाध्यक्ष, शिक्षा), प्रो गीता खोलिया, डॉ तेजपाल सिंह आदि ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत की। छात्राओं ने गणेश वंदना, सरस्वती वंदना, स्वागत गीत का गायन किया।

उसके उपरांत परिसर की अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. इला साह ने अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने एनसीसी 24 यू.के. गर्ल्स बटालियन,एनसीसी के कार्यक्रमों पर प्रकाश डालकर उनके प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि ये एनसीसी का यह कार्यक्रम युवाओं में देशप्रेम की भावना जागृत करने के लिए बहुत आवश्यक है। ऐसे कार्यक्रमों से विद्यार्थियों और कैडेट्स को इनसे सीख मिलती है।
24 यूके गर्ल्स बटालियन की एसोसिएट NCC ऑफिसर लेफ्टिनेंट डॉ ममता पंत ने अतिथियों का स्वागत करते हुए फेस्ट की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एनसीसी का देश के लिए उत्कृष्ट योगदान है। एनसीसी युवाओं में अनुशासन लाती है, उन्हें राष्ट्र के लिए तैयार करती है। 24 बटालियन की कैडेट्स ने राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण कैम्प में प्रतिभाग कर कई पदक जीते हैं। उन्होंने कार्यक्रम के संदर्भ में विस्तार से प्रकाश डाला।

मुख्य अतिथि रूप में 24 यूके गर्ल्स बटालियन के कमांडिंग अफसर कर्नल मनोज कुमार कांडपाल ने कहा कि एन.सी.सी. कैडेट्स अपने अनुशासन के लिए जानी जाती है। 24 UK बटालियन के कैडेट्स अनुशासन में रहकर नवीन उपलब्धियां हासिल करें। कैडेट्स में ऊर्जा होती है और बटालियन के कैडेट्स के कार्यों से मुझे प्रसन्नता होती है। उन्होंने प्रादेशिक सेवाओं एवं सेना में भविष्य बनाने की चाह रखने वाले कैडेट्स को एनसीसी के बी एवं सी सार्टिफिकेट के फायदे बताए। साथ ही उन्होंने पास हो चुके कैडेट्स को ईमानदारी से काम करने की बात कही। बटालियन की डॉ ममता पंत और उनके कैडेट्स की प्रसंशा की।
कार्यक्रम के संरक्षक रूप में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जगत सिंह बिष्ट ने कहा कि इतिहास में कई वीरांगनाओं के नाम आते हैं। जिनका आजादी के लिए बहुत बड़ा योगदान है। उन वीरांगनाओं के त्याग, सेवा और कर्म से भारत की नींव मजबूत हुई हसी। आज के संदर्भ में देखें तो महिलाएं सभी क्षेत्रों में नाम रोशन कर रही हैं। 24 गर्ल्स बटालियन के कैडेट्स अनुशासन में रहकर रचनात्मक दिशा में कार्य कर रहे हैं। डॉ ममता पंत अनुशासित हैं और इनके कैडेट्स बहुत बढ़िया कार्य कर रहे हैं।

अधिष्ठाता प्रशासन प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट ने वीरांगना फेस्ट की सराहना की। उन्होंने कहा कि वीरांगना फेस्ट उत्कृष्ट कार्यक्रम है। छात्रा कैडेट्स को देश की सेना में भविष्य बनाने के लिए प्रेरित किया। साथ ही बटालियन की ए एन ओ डॉ ममता पंत ऊर्जावान अफसर हैं। उन्हें बधाई दी।
इस फेस्ट में आयोजक सचिव सीनिअर अंडर अफसर निहारिका कपिल, अंडर ऑफिसर खुश्बू दोसाद, अंडर ऑफिसर आँचल राज सत्यप्रेमी, अंडर ऑफिसर रोशनी कपकोटी ने कार्यक्रम में ऑप्ना सहयोग दिया। इस वीरांगना फेस्ट में केडेट्स ने भारतीय लोक नृत्यों को प्रस्तुत किया। देवा श्री गणेशा, मां शारदे गीतों पर सराहनीय प्रस्तुतियां दी। पंजाबी, नेपाली, असमिया, कुमाउनी आदि लोकनृत्य प्रस्तुत किये। उन्होंने देशभक्ति से ओतप्रोत नाटिका प्रस्तुत कर भाव विभोर किया।
फेस्ट का संचालन सीनिअर अंडर अफसर निहारिका कपिल, अंडर ऑफिसर आँचल राज सत्यप्रेमी ने संयुक्त रूप से किया और आभार डॉ ललित जोशी ने जताया।

इस अवसर पर प्रो जया उप्रेती (,संकायाध्यक्ष, विज्ञान), प्रो. भीमा मनराल (संकायाध्यक्ष, शिक्षा), प्रो गीता खोलिया, डॉ. तेजपाल सिंह, डॉ.संगीता पवार, डॉ.नवीन भट्ट, विपिन जोशी, डॉ ममता कांडपाल डॉ योगेश मैनाली, डॉ.ममता कांडपाल, डॉ. सरोज जोशी, डॉ.ललिता रावल, डॉ.पूजा , डॉ.मनोज कुमार, डॉ. प्रतिमा, दीप्ति रावत (ANO, 24 यूके बटालियन, विवेकानंद बालिका विद्या मंदिर), डॉ. अंकिता, डॉ. ललित चन्द्र जोशी, पंकज कार्की (छात्र संघ अध्यक्ष),संजू सिंह के साथ 24 यूके छात्रा एनसीसी बटालियन और 77यूके बटालियन के कैडेट्स एवं स्टाफ, छात्रसंघ के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Verified by MonsterInsights