कोच नरेंद्र शाह के कथित वायरल आडियों के मामले में गंभीरता से जाँच के लिए महिला आयोग ने दिए आदेश

 

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

देहरादून-क्रिकेटर एसोशिएशन ऑफ उत्तराखंड के महिला जूनियर क्रिकेटर के संयोजक व पर्वतीय क्रिकेट एसोशिएशन चमोली के सचिव नरेन्द्र शाह के कथित वायरल ऑडियो के मामले में महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने संज्ञान लेते हुए वायरल ऑडियो की गहराई व गंभीरता से जांच के आदेश दिए है।

महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने इस प्रकरण में डीआईजी पी रेणुका से बात की है जिस पर पी रेणुका का कहना है क्रिकेटर कोच नरेंद्र शाह अभी तक वेंटिलेटर पर थे, अब वेंटिलेटर से बाहर आये है जैसे ही कुछ बताने वाली स्थिति में आएंगे पुलिस उससे पूछताछ करेगी, अभी पुलिस को ना ही वह वायरल ऑडियो मिला और ना ही कोई प्रमाण।

महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने कहा है कि इस मामले में महिला आयोग को भी परिजनों की ओर से कोई शिकायत नही मिली है ना ही पुलिस को किसी परिजन द्वारा शिकायत दी गयी है। मगर किसी भी बेटी के साथ इस तरह से होता है या बेटी को कथित रूप से गुमराह कर उसका शोषण किया जाएगा या किसी कोच द्वारा किसी भी महिला खिलाड़ी से अश्लील या अभद्र भाषा मे बात करने का प्रयत्न किया जाए तो इसमें पुलिस सख्ती से कार्यवाही करें।

कुसुम कण्डवाल ने बताया पूर्व में महिला आयोग ने भी एक कार्यशाला के माध्यम से जानकारी दी थी कि कोच का प्रक्षिणार्थियों के प्रति व्यहवार या बरताव कैसा हो। इसको उत्तराखंड की बेटियों के लिए, मुख्य रूप से जो पहाड़ की बेटियाँ हैं उनके लिए इस कार्यशाला को आयोजित किया था। बेटियों में अनेकों प्रतिभा हैं खेल में आगे बढ़ना चाहती हैं ऐसे में यदि उनके साथ कोच द्वारा किस प्रकार का शोषण किया जाता है तो बेटियों को भी खुलकर विरोध करना चाहिए तथा ऐसे मामलों में पुलिस को सख्ताई से कड़ी कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य की बेटियों के साथ यदि इस प्रकार की घटना होगी तो महिला आयोग बर्दाश्त नही करेगा। इसी लिए उक्त मामले में जल्द से जल्द जांच की जाए।

Verified by MonsterInsights