जानिये आखिर कौन है परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम को होस्ट करने वाले सौम्य तिवारी और उनके स्कूल के बारे में

 

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

देहरादून-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को परीक्षा पर चर्चा कर बोर्ड परीक्षाओं में हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों का हौसला बढ़ाया। देशभर के सभी स्कूलों में तालकटोरा स्टेडियम के कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया गया।

देश भर में दिसम्बर महीने में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने यह प्रतियोगिता करवाई थी जिसमे स्कूली छात्रों से क्रीटिटिव राइटिंग के अंतर्गत अलग अलग विषयों में निबंध लेखन उसके बाद वीडियो आदि अनेक चरणों को पास करने के बाद इस कार्यक्रम को होस्ट करने का अवसर पूरे देश से 5 बच्चों को मिला था जिनमें से उत्तराखंड से सौम्य तिवारी का चयन इस कार्यक्रम को होस्ट करने के लिये हुआ था,और कार्यक्रम की शुरुआत सौम्य तिवारी ने की।

कौन है सौम्य तिवारी

सौम्य तिवारी जवाहर नवोदय विद्यालय बणसूँ जाखधार गुप्तकाशी जिला रुद्रप्रयाग में 11 वीं कक्षा का छात्र है यह मेधावी छात्र है और इसकी रुचि लेखन कला और साहित्य में है ।

सौम्य अपने स्कूल में होने वाली खेल कूद प्रतियोगिताओ में भी रुचि लेते है ऐसा कहना है सौम्य के स्कूल के प्रिंसिपल कुंडल सिंह दिगारी का।

सौम्य अपने नाम के अनुरूप बहुत ही सौम्य व्यवहार का बच्चा है पिताजी पुरोहित का काम करते है और माँ गृहिणी है ।वह बहुत लगनशील जिज्ञासु और प्रतिभावन है और यही गुण उसे बड़ा अवसर बड़े मंच प्रदान करता है।
वहीं इस विषय पर सौम्य का कहना है कि उनके इस कार्यक्रम में चयनित होने से उनके विद्यालय के छात्र छात्रा ओर शिक्षक बेहद उत्साहित है और वह अपनी इस सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों को देते है।

प्रिंसिपल आगे बताते है कि यह जवाहर नवोदय विद्यालय उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश में सबसे बड़े विद्यालयों में एक है जिसकी छात्र संख्या 553 है जो कि किसी भी जवाहर नवोदय विद्यालय में छात्र संख्या अधिकतम 560 होती है।

वही स्कूल में 200 छात्र एनसीसी के भी है जिसमें 100 छात्र जूनियर वर्ग से और 100 छात्र सीनियर वर्ग से हैं. विगत वर्ष इस विद्यालय से तीन बच्चे एनडीए एसएसबी के लिए चयनित हुए थे और दो बच्चे जेईई एडवांस में 12 वी करते हुए चयनित हुए थे।

स्कूल के प्रिंसिपल कहते हैं कि यह विद्यालय पूर्ण रूप से आवासीय विद्यालय है यहां अन्य तरह के कार्यक्रम भी बच्चो के शैक्षणिक विकास के लिये चलाये जाते है जिससे बच्चे लाभान्वित होते है।

यह दूरस्थ क्षेत्र का नवोदय विद्यालय है भौगोलिक विषमताओं के बावजूद बच्चे हर क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं और पिछले 3 सालों से विद्यालय का परीक्षा परिणाम 100% रहा है।

विगत वर्षों में इस विद्यालय से जनपद में 10वीं और 12वीं में बच्चे लगातार प्रथम द्वितीय और तृतीय स्थान पर रहे हैं .इससे पूर्व विद्यालय की छात्रा प्रिया नेगी 2020 में ऑल इंडिया दसवीं में पांचवी रैंक पर उत्तीर्ण हुई थी। उनके और पूरे विद्यालय परिवार के द्वारा बच्चों का चहुमुखी विकास करने का प्रयास किया जाता है।

Verified by MonsterInsights