दून विश्विद्यालय में आयोजित उत्तराखण्ड विकास प्रदर्शनी का युवा उद्यमिता सम्मलेन एवं सम्मान व सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम के साथ हुआ समापन

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

देहरादून:स्मृति विकास संस्थान द्वारा स्वदेशी जागरण मंच की प्रेरणा से दून विश्वविद्यालय देहरादून के कैंपस में आयोजित उत्तराखण्ड विकास प्रदर्शनी में युवा उद्यमिता सम्मलेन व सम्मान व सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमे विभिन्न युवा उद्यमियों को सम्मानित भी किया गया।

जिसमे सम्मलेन का आयोजन मुख्य अतिथि आईआईपी के डायरेक्टर डॉ हरेन्द्र बिष्ट व सहकारी संघ की महानिदेशक रमिन्द्री मंद्रवाल अध्यक्षता में किया गया।

युवा उद्यमी सम्मेलन के मुख्य अतिथि डॉ हरेन्द्र बिष्ट ने कहा कि हम वर्तमान की आवश्यकता के अनुसार नौजवानों को नई तकनीकों की जानकारी देकर भविष्य के लिए तैयार कर रहे है। इसके लिए हम लगातार सरकार के साथ समन्वय करते हुए नई पहल कर रहे है।

सम्मेलन की अध्यक्षता कर रही रमिन्द्री मंद्रवाल ने कहा कि सभी लोग यहां लगे स्टालों से सरकारी विभागों की जानकारी लेते हुए उनका लाभ उठाएं और अपने आप को स्वावलम्बी व उद्यमी बनाने की ओर अग्रसर हो।

शाम को सांस्कृतिक संध्या के कार्यक्रम व डांडिया नाइट का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री- त्रिवेंद्र सिंह रावत, क्षेत्र संपर्क प्रमुख – सुरेन्द्र सिंह, कुलपति दून विवि- प्रोफेसर सुरेखा डंगवाल, विशम्भर नाथ बजाज द्वारा भारत माता के चित्र के सम्मुख दीप जलाकर किया गया।

कार्यक्रम में विभिन्न युवाओं को उद्यमिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया तथा प्रदर्शनी में लगे स्टालों को पुरस्कृत भी किया गया। जिसमें प्रथम स्थान वन विभाग- मंसूरी रेंज के स्टॉल को मिला। द्वितीय स्थान कृषि विभाग व उद्यान विभाग के स्टॉल को मिला तथा तृतीय स्थान NRLM के प्रयास स्वयंसहायता समूह, मुक्त विश्व विद्यालय व वन्यजीव संस्थान को मिला।

इसी कड़ी में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की संध्या व डांडिया नाइट का शुभारंभ करने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आज हम दुनिया की सबसे युवा शक्ति के रूप में है और प्रधानमंत्री के नेतृत्व में युवा नए नए आयामों में परचम लहरा रहे हैं। आज देश के अनेकों युवा सफल उद्यमी बन कर देश मे अच्छा नाम कमा रहे हैं और देश की आर्थिक व्यवस्था को मजबूती देने में सहयोग दे रहे है। हमें उनसे सीखना होगा कि हम अपने आप को कैसे आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह स्वदेशी प्रदर्शनी हमे विभिन्न क्षेत्रों की जानकारी की साथ हमारी संस्कृति व रंगमंच से भी जोड़ने का काम करते हुए हमारी प्रतिभा को निखारने का काम कर रही है।

इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने आसपास की बनी चीजों को खरीदने पर जोर देते हुए कहा कि त्यौहारों के दिन अब नजदीक है जिसके लिए हमने सबने कुछ न कुछ खरीदारी करनी है तो उसके लिए हमे अपने लोकल के सामानों को खरीदना चाहिए । क्योंकि हमारे सभी सामाजिक कामों में हमारा लोकल का बाजार ही हमें सहयोग देता है। इस लिए हर चीज में ऑनलाइन पर निर्भर ना रहे अपने नजदीकी बाजार से भी सामान अवश्य लें।

स्मृति विकास संस्थान द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विभिन्न छात्र छात्राओं व आसपास के क्षेत्र के विभिन्न कलाकरों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में प्रतिभाग करते हुए मैडल व पुरुस्कार जीतें व समापन के दिन डांडिया नाइट में जमकर गरबा खेला, जिसमे विभिन्न छात्र छात्राओं के ग्रुप ने गरबा की प्रस्तुतियां दीं ।

समापन पर संस्था के सचिव द्वारा सभी सहयोगियों का आभार व धन्यवाद देते हुए उन्हें भी सम्मानित किया गया।अंतिम दिन स्टालों में भारी छूट के साथ लोगों ने प्रदर्शनी में जमकर खरीदारी भी की ।

कार्यक्रम का संचालन आधार वर्मा व प्रवीण पुरोहित ने किया।

इस अवसर प्रवीण ममगई, आशीष पोरवाल, प्रिन्स यादव, ललित जोशी, विशंभर नाथ बजाज, प्रो. राजेन्द्र ममगई, डॉ केडी पुरोहित, गोविंद रावत, डॉ दिव्या नेगी, डॉ दिनेश कुमार, छात्र परिषद से अमन कुमार, मंशा ध्यानी, सतपाल रावत, विपाशा, जाग्रति सहित अनेक विद्यालयों व कॉलेजों के विद्यार्थी व क्षेत्र की आम जनता उपस्थित रही।

Verified by MonsterInsights