आज महिला समानता दिवस के उपलक्ष में किंचित प्रयास फाउंडेशन ने कार्यशाला व नारी शक्ति सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

देहरादून : आज महिला समानता दिवस के उपलक्ष में स्वावलंबी भारत अभियान के अंतर्गत किंचित प्रयास फाउंडेशन द्वारा महिलाओं को सशक्त एवं स्वावलंबी बनाने के लिए एक दिवसीय कार्यशाला व नारी शक्ति सम्मान कार्यक्रम का आयोजन बीएफआईटी संस्थान के ऑडिटोरियम में किया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन उत्तराखंड राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष श्रीमती कुसुम कंडवाल द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़ रही महिलाओं को स्वावलम्बी भारत अभियान के अंतर्गत सम्मानित भी किया गया तथा विभिन्न महिलाओं को स्वयं सहायता समूहों के माध्यम, तथा सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं से सशक्तिकरण के लिए प्रेरित किया गया।

इस अवसर पर महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं फिर चाहे वह राजनीति का क्षेत्र हो या वैज्ञानिकों की दुनिया चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो या सेना के जवान हर जगह महिलाएं परचम लहरा रही हैं। आज माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में महिलाएं विभिन्न ऊंचाइयों को छू रही हैं। प्रधानमंत्री के निर्देशन में सरकार द्वारा नारी सशक्तिकरण के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। उत्तराखंड में भी अनेक महिलाएं देश विदेश में नाम रोशन कर रही हैं चाहे वह खेल का क्षेत्र हो या सेवा का क्षेत्र या फिर देश की रक्षा के लिए आर्मी के रूप में। उन्होंने कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा समूह की महिलाओं की आर्थिकी को मजबूत करने और लोकल की चीजों को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री सशक्त बहना उत्सव योजना का स्वागत करते हुए कहा कि यह बहुत ही सराहनीय पहल हमारे मुख्यमंत्री द्वारा की गई है जिसमें प्रत्येक विकासखंड स्तर पर समूहों की बहनों द्वारा बनाए जा रहे समाज को लघु मेलों के द्वारा बाजार उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने बताया कि आज सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं नारी सशक्तिकरण के लिए चलाई जा रही हैं महिलाएं स्वयं सहायता समूह बनाकर कार्य कर रही हैं। साथी उन्होंने कहा कि आज की महिलाएं किसी से कम नहीं नारी ही दुर्गा है नारी ही शक्ति है और नारी से ही सशक्त समाज बनता है।

वहीं कार्यक्रम में पहुंचे उद्योग निदेशालय के उपनिदेशक व खादी ग्रामोद्योग की अधिकारी ने सरकार की योजनाओं से महिलाओं व विद्यार्थियों को रूबरू कराते हुए बताया कि किस प्रकार से वो सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से अपनी आजीविका शुरू कर सकते है तथा अपना स्वरोजगार खड़ा कर सकते है। किस प्रकार लघु उद्यमियों को बीस हजार रुपए से पचास लाख रुपये तक के लोन की सुविधा मिल सकती है।

कार्यक्रम में पहुंची एबीवीपी की प्रदेश अध्यक्ष ममता सिंह ने महिलाओं का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि महिलाओं को अपने आप को किसी से भी कम नहीं मानना है उन्हें हर प्रकार के कार्यों में अपना हाथ आजमाना चाहिए तथा अपनी रुचि के कार्यों को करते हुए उसे अपनी शक्ति बनाना चाहिए।

कार्यक्रम के संयोजक व किंचित प्रयास फाउंडेशन के संस्थापक प्रिंस यादव ने बताया कि संस्था द्वारा इस प्रकार के कार्य लगातार किए जाते रहते हैं जिससे कि समाज में स्वरोजगार के प्रति एक नई चेतना जागृत हो सके तथा समाज का युवा वर्ग नौकरियों पर निर्भर न रहकर उद्यमिता के माध्यम से स्वयं को मजबूत कर राज्य की आर्थिकी बढ़ाने में अपना योगदान दे सकें।

कार्यक्रम में बीएफआईटी की लेडी डायरेक्टर विमलजीत कौर, सेवा संस्थान फाउंडेशन की अध्यक्ष प्रियंका पाहवा, जिला खाद्य एवं ग्रामोद्योग अधिकारी डॉ अलका पांडे, अनुपम द्विवेदी – उपनिदेशक उद्योग निदेशालय, विशंभर नाथ बजाज, स्वदेशी जागरण मंच के क्षेत्र संयोजक सुरेंद्र सिंह, दरबान सिंह सरियाल, झाझरा की पिंकी प्रधान, शिखा शर्मा, सृष्टि बिष्ट, पारखी वत्स, दीपक गैरोला, ऋषभ रावत, रमेश चन्देल, सुशील सिंह सहित विभिन्न महिला ग्राम प्रधान, नारी शक्ति व छात्र छात्राएं उपस्थिति रहे।

Verified by MonsterInsights