राजकीय महाविद्यालय चम्पावत को सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय का परिसर बनाये जाने की राज्यपाल की अधिसूचना जारी ,नोडल अधिकारी डॉ नवीन भट्ट ने मुख्यमंत्री का जताया आभार

 

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

चंपावत-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राजकीय महाविद्यालय चम्पावत को सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय का परिसर बनाये जाने की घोषणा की थी ।उक्त के क्रम में राज्यपाल की अधिसूचना जारी होने पर नोडल अधिकारी डॉ नवीन भट्ट ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का यह निर्णय ऐतिहासिक निर्णय है।चम्पावत सीमांत क्षेत्र में विश्वविद्यालय का परिसर बनने से यहां अनेकों रोजगारपरक पाठ्यक्रम संचालित होने के साथ ही व्यावसायिक कोर्स प्रारंभ होंगे।छात्र-छात्राओं को बाहर नही जाना पड़ेगा।होस्टल ,केंद्रीय पुस्तकालय के साथ ही बिल्डिंग आदि निर्माण होगा।निदेशक,अधिष्ठाता छात्र कल्याण ,कुलानुशासक व लेखाधिकारी सहित अनेकों प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति होंगी।विश्वविद्यालय परिसर में अनेकों विभागों की स्थापना का मार्ग प्रसस्त होगा।विश्वविद्यालय का परिसर बनने से चम्पावत शिक्षा का हब बनेगा।

डॉ नवीन भट्ट ने कहा कि भौतिक संसाधन व सम्पतियों का अधिग्रहण करवाने के निवेदन पर मुख्यमंत्री ने तत्काल डीएम को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए।

सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय के चम्पावत के नोडल अधिकारी डॉ नवीन भट्ट ने प्राचार्य प्रो प्रणीता नन्द से मुलाकात कर परिसर की अधिसूचना जारी होने पर प्रसन्नता व्यक्त की व मुख्यमंत्री का आभार जताया।नोडल अधिकारी डॉ नवीन भट्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी चम्पावत को शिक्षा के हब के रूप में विकसित करना चाहते है।उन्होंने कहा कि सीएम इस सीमांत क्षेत्र को एक आदर्श शिक्षा के केंद्र के रूप में विकसित कर युवाओं को रोजगारपरक पाठ्यक्रम हेतु उन्हें बाहर न जाना पड़े।

डॉ भट्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री का यह ऐतिहासिक निर्णय है। उन्होंने प्राचार्य से अभी तक प्रेषित विभिन्न प्रस्तावों की जानकारी मांगी।उन्होंने बताया कि परिसर के लिये 5 करोड़ रु की टोकन मनी शासन द्वारा जारी कर दी गयी है।समाज कल्याण द्वारा छात्रावास निर्माण के संबंध में प्रक्रिया गतिमान है।एशियन डेवलेपमेंट बैंक द्वारा चम्पावत को मॉडल कालेज के रूप में विकसित किया जा रहा है।जिसकी डीपीआर व प्रस्ताव प्रेषित किये जा चुके है।नोडल अधिकारी डॉ नवीन भट्ट ने कहा कि इसी सत्र से अनेकों पाठ्यक्रम का संचालन विश्वविद्यालय द्वारा किया जाएगा ।डॉ भट्ट द्वारा इस दौरान संपति व भौतिक संसाधनों का स्थलीय निरीक्षण किया गया।परीक्षा अनुभाग,पुस्तकालय व अन्य विभागों के संबंध में जानकारी जुटाई।नोडल अधिकारी डॉ भट्ट व प्राचार्य के बीच परिसर की समस्याओं के संबंध में व्यापक चर्चा हुई।इस दौरान डॉ किरन पन्त सहित अन्य शिक्षक गण मौजूद रहे।

Verified by MonsterInsights