अल्मोड़ा के चोघानपाटा में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की अगुवाई में कांग्रेसियों ने किया एकदिवसीय धरना प्रदर्शन

 

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

अल्मोड़ा- अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आज काँग्रेस कार्य समिति के सदस्य एंव पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी , संविधान निर्माता भारतरत्न डा. भीभराव अम्बेडकर ऒर राय बहादुर मुँशी हरिप्रसाद टम्टा की मूर्तियों में माला अर्पित करने के बाद धरना प्रदर्शन आरम्भ किया। अपने संबोधन में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि देश में पुरानी धरोहर एंव देश के लिए अपना योगदान देने वाले देशभक्तों के नाम मिटाने का दॊर चल रहा है। देश के संविधान को तार- तार करने का कृत्य केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा किया जा रहा है।उन्होंने अपने मुख्यमंत्री के कार्यकाल में पहाड़ की विलुप्त हो रही ऐतिहासिक शिल्पकला के संरक्षण के लिए दूरगामी सोच के तहत समाज के अनुसूचित जाति वर्ग के युवाओं का पलायन रोकने ऒर उन्हें अपने गाँव में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए जागेश्वर विधानसभा के गुरडा़बाज में 100 करोड़ की लागत का प्रस्तावित मुँशी हरिप्रसाद टम्टा शिल्पकला उन्नयन केन्द्र की घोषणा करके प्रथम चरण में निर्माण के लिए 6 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की थी। अपने कार्यकाल में वन भूमि हस्तांतरण के साथ उन्नयन केन्द्र के लिए सड़क पँहुचाने के साथ भवन का निर्माण आरम्भ किया। आज वहाँ पर विगत 6 वर्ष से निर्माणाधीन भवन का एक मंजिला भवन का लिन्टर भी पड़ गया था। लेकिन विगत 6 वर्ष से प्रदेश की भाजपा सरकार के त्रिवेन्द्र रावत, तीरथ रावत के साथ वर्तमान मुख्यमंत्री पुष्कर धामी की सरकार ने समाज के सबसे वंचित समाज के युवाओं के भविष्य के साथ घोर उपेक्षा के दंश को देखते हुए उन्होंने प्रदेश की धामी सरकार की नींद खोलने की कोशिश की हैं।

उन्होंने कहा कि अगर धामी सरकार समाज के सबसे बड़े सुधारक के नाम स्थापित शिल्पकला उन्नयन केन्द्र के लिए धनराशि जारी नहीं करते हैं तो वो अगला बड़ा कदम आगामी 02 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की जयन्ती पर गुरडा़बाज स्थित रूके हुए शिल्पकला केन्द्र के भवन में उपवास कार्यक्रम आयोजित करके दलित एंव असहाय समाज के युवाओं की आवाज को उठाने का कार्य करेंगे ।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविन्द सिंह कुँजवाल ने कहा कि मुँशी हरिप्रसाद टम्टा शिल्पकला उन्नयन केन्द्र जागेश्वर विधानसभा में विकास का सबसे उदाहरण था। ये उन्नयन केन्द्र पूरे पर्वतीय क्षेत्र के दलित एंव रोजगार के संघर्षरत युवाओं की बड़ी उम्मीद था ऒर साथ ही साथ पहाड़ से पलायन रोकने के लिए ठोस नीतिगत भी था। लेकिन बड़े दुर्भाग्यकारण का कारण हैं। कि प्रदेश की 6 वर्ष से अधिक समय तक सत्ता में मॊजूद भाजपा सरकार द्वारा राजनॆतिक विद्वेष के कारण दलित समाज के भविष्य के साथ मजाक करके दलित समाज के विकास ठेंगा दिखा रहे हैं । उन्होंने कहा कि मुँशी हरिप्रसाद टम्टा शिल्पकला उन्नयन केन्द्र के भवन निर्माण सहित शिल्पकला के संरक्षण के लिए समाज को साथ लेकर प्रदेश की धामी सरकार के खिलाफ बड़े जन आन्दोलन को प्रारम्भ करेंगे ।

पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा ने कहा कि आज देश तानाशाही सरकार के अधीन हो चुका हैं। आज भारतीय संविधान को कमजोर करके धर्म एंव जाति के नाम जहर उगलने का कार्य उन्माद पर हैं। जिससे देश के भीतर भय एंव अराजकता ऒर असुरक्षा का भय देश को कमजोर कर रहा हैं। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने समाज के सबसे बड़े सुधारक मुँशी हरिप्रसाद टम्टा के नाम पर समाज को उठाने के लिए एंव युवाओं को स्वरोजगार से कुशल दक्ष बनाने का जो बड़ा निर्णय लेकर पहाड़ का बड़ा दंश पलायन को रोकने के लिए जिस भवन की आधारशिला रखी थी। उसे राजनॆतिक दुराभाव के कारण रोकने का जो प्रयास भाजपा सरकार द्वारा कराया जा रहा हैं वह उत्तराखण्ड के दलितों ऒर युवाओं के भविष्य के साथ बड़ा खिलवाड़ हैं। जिसे काँग्रेस पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। काँग्रेस पार्टी हर चरण में भाजपा की जनविरोधी नीतियों का व्यापक विरोध करेगी।

विधायक मनोज तिवारी ने कहा कि मुँशी हरिप्रसाद टम्टा के नाम पर बनने जा रहे शिल्पकला उन्नयन केन्द्र को रोकना पहाड़ के युवाओं के भविष्य के साथ बड़ा खिलवाड़ हैं। जिसका हर स्तर पर विरोध करके शिल्पकला केन्द्र भवन को बनाने के लिए दवाब बना जायेगा।
धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह भोज एंव संचालन जिला महामंत्री गीता महरा ने किया।

कार्यक्रम में पूर्व विधायक कपकोट ललित फर्स्वाण, पूर्व जिलाध्यक्ष पीताम्बर पाण्डेय, महिला जिलाध्यक्ष राधा बिष्ट, नगराध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी, महिला नगराध्यक्ष दीपा साह, जिला महामंत्री ( संगठन) त्रिलोचन जोशी, पूर्व अध्यक्ष आनन्द बगडवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेन्द्र बाराकोटी, जिला प्रवक्ता निर्मल रावत, अनुसूचित जाति विभाग जिलाध्यक्ष किशन लाल,जिला पंचायत सदस्य देवेन्द्र बिष्ट,प्रताप राम आर्या, प्रदेश अल्पसंख्यक महामंत्री अमन अंसारी, जिला महामंत्री दीवान सतवाल, नगर महामंत्री (संगठन ) वॆभव पाण्डेय, पूर्व दर्जा मंत्री ए के सिकन्दर पवार, एन डी पाण्डेय, पूर्व नगराध्यक्ष पूरन सिंह रॊतेला, नगर वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेश चन्द्र आर्या, जिला मंत्री वी के पाण्डेय, पूर्व जिला सहकारी बॆंक अध्यक्ष दीवान भॆसोडा़, पूर्व जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रशान्त भॆसोडा़, पूर्व ब्लाँक प्रमुख रमॆश भाकुनी, लक्ष्मण सिंह ऎठानी, एड़ केवल सती, मनोज सनवाल प्रदेश महिला महामंत्री प्रीति बिष्ट, ब्लाँक अध्यक्ष मनोज रावत, पी सी सी सदस्य गोपाल चॊहान, हर्ष कनवाल आदि ने संबोधन देकर प्रदेश की धामी सरकार को खूब कोसा।

कार्यक्रम में तीनों विधानसभा अल्मोड़ा, जागेश्वर ओर सोमेश्वर के बड़ी संख्या में काँग्रेस पदाधिकारियों एंव कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन में पँहुचकर पूर्व मुख्यमंत्री को समर्थन दिया। मुँशी हरिप्रसाद टम्टा के परिवार महेश टम्टा, दयाशंकर टम्टा भी उपस्थित थे। कार्यक्रम में जिला महिला उपाध्यक्ष जया जोशी, धीरा तिवारी, पूनम आर्या, राधा राजपूत, सरस्वती रोढिया, किरन बिष्ट, हंसा मर्तोलिया, आशा शर्मा, इन्द्रा वर्मा, ज्योति, भावना, दीपा, शोभा देवी , तारू तिवारी, अख्तर हुसैन, प्रताप सत्याल तारु तिवारी,सुरेंद्र लाल टम्टा,गिरीश टम्टा, बाल विक्रम रावत,नितिन रावत ,अमित बिष्ट,हरेंद्र प्रसाद,नवीन कनवाल मंटू ओली, लक्ष्मण ऐठानी,हंसा तिवारी,शिव राम, प्रवीण भोज,गोविंद राम, पुराण टम्टा,देवेंद्र धोनी,नरेंद्र बनौला,पूनम आर्या गोपाल सिंह चौहान,निजाम कुरेशी,हेम आर्य अंबी राम,रमेश कांडपाल ,हीरा सिंह बिष्ट ,वकुल साह,मनोज बिष्ट, भगीरथ पांडे, राजेश कुमार, भुवन अधिकारी,कार्तिक शाह,महेश डसीला,,राजू भट्ट,,राजेश गिरी सहित सैकडों काँग्रेसजन उपस्थित थे।

Verified by MonsterInsights