The Top Ten News
The Best News Portal of India

स्टॉकट्विट्स ने मार्च 2024 तक अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सेबी के साथ पंजीकृत 100 अनुसंधान विश्लेषकों की मेज़बानी करने की योजना बनाई

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून
 
देहरादून: शेयर बाज़ारों पर विषय-सामग्री को साझा करने के लिए निवेशकों और व्यापारियों के लिए नए जमाने के वित्तीय और सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म, स्टॉकट्विट्स ने आज कहा कि उसने सेबी के साथ पंजीकृत 100 से अधिक अनुसंधान विश्लेषकों (आर.ए.) को काम पर रखा है। मार्च 2024 तक अपने प्लैटफॉर्म पर पंजीकृत निवेश सलाहकारों (आर.आई.ए.) की मेजबानी करने का प्रयास कर रहा है। इक्विटी बाजारों की गहन जानकारी रखने वाले ये प्रमाणित अनुसंधान विश्लेषक युवा और महत्वाकांक्षी रीटेल निवेशकों को अपने निवेश के निर्णयों को बेहतर बनाने और ‘फिन्फ्लुएंसर’ समुदाय में कुछ लोगों के नकारात्मक प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं। इस कंपनी के पास पहले ही 50 से अधिक आर.ए./आर.आई.ए. हैं जिन्होंने इस प्लैटफॉर्म पर अपने विचार पोस्ट किए हुए हैं।
 
स्टॉकट्विट्स सेबी के निवेशकों को उनकी डिजिटल उपस्थिति का विस्तार करने में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है। स्टॉकट्विट्स प्लैटफॉर्म पर, सेबी के साथ पंजीकृत निवेशकों को पीले रंग के सत्यापित बैज प्रदान किए जाते हैं और उनकी विषय-सामग्री को स्टॉकट्विट्स और स्टॉकट्विट्स के सामान्य सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म दोनों पर प्रदर्शित किया जाता है। सेबी के आर.ए. को और भी बेहतर दृश्यता प्रदान करने के लिए, स्टॉकट्विट्स ने अपने मुख्य सोशल मीडिया उत्पाद को एकीकृत करने के लिए कई ऑनलाइन वित्तीय मीडिया कंपनियों और मध्यस्थ कंपनियों के साथ साझेदारी की है, जैसे कि ई.टी.मार्केट, सी.एन.बी.सी. TV18.com और बिजनेस इनसाइडर इंडिया के साथ अनुबंध किए हैं। इस कंपनी को 2024 में ऐसी कई और साझेदारियाँ होने की उम्मीद है।
 
नए ज़माने के वित्तीय और सोशल मीडिया प्लेटफार्मों की प्रमुख कंपनियों में से एक, स्टॉकट्विट्स के पास वैश्विक स्तर पर आठ मिलियन प्रतिभागी हैं, इसकी भारतीय शाखा में अब एक रीटेल प्रणाली है जिसमें दो मिलियन उपयोगकर्ता निवेश कर रहे हैं – जिसमें स्टॉकट्विट्स और उसके सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म दोनों शामिल हैं। स्टॉकट्विट्स को अगले साल के अंत तक अपने उपयोगकर्ता आधार के योगदान में कम से कम 50% की वृद्धि करने की उम्मीद है। स्टॉकट्विट्स की भारत में सोशल मीडिया-फर्स्ट की विकास की रणनीति है और इसने इंस्टाग्राम, यूट्यूब, ट्विटर, टेलीग्राम और अपने दैनिक न्यूज़लेटर पर बड़ी संख्या में फॉलोअर्स बनाए हैं।
 
स्थानीय प्रयासों में तेज़ी लाने के लिए, स्टॉकट्विट्स ने पहले ही स्वदेशी साझेदारी विकसित करने और भारत के बाज़ारों के लिए सामग्री बनाने के लिए एक विशेष टीम को काम पर रखा हुआ है
 
स्टॉकट्विट्स के इंटरनेशनल के भारत के प्रमुख एवं उपाध्यक्ष, शिव शर्मा ने कहा, “रीटेल निवेशकों को उनकी सीखने की प्रक्रिया में तेज़ी लाने और उनके निवेश के कौशल को बेहतर बनाने में मदद किए जाने की आवश्यकता है। इसमें सहायता करने लिए, हम सक्रिय रूप से सामान्य सोशल मीडिया प्लैटफार्मों पर जानकारी से भरपूर, परंतु बाज़ार की प्रासंगिक विषय-सामग्री तैयार कर रहे हैं, और उसके बाद हमारे अपने गंभीर समूह का निर्माण कर रहे हैं जहाँ खुदरा निवेशकों की अगली पीढ़ी सेबी-पंजीकृत निवेशकों से सीख सकती है।”

Comments are closed.

Verified by MonsterInsights