The Top Ten News
The Best News Portal of India

दलित नेता जगदीश हत्याकांड में चौथा आरोपी नरेंद्र सिंह गिरफ़्तार

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

अल्मोड़ा-भिकियासैंण में दलित नेता जगदीश चंद्र की हत्याकांड में पुलिस ने चौथे आरोपी नरेंद्र सिंह को 9 सितंबर को गिरफ़्तार कर लिया है इस मामले में तीन आरोपियों की गिरफ्तारी पूर्व में हो चुकी है इस बारे में अल्मोड़ा एसएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि इस केस को राजस्व पुलिस से अल्मोड़ा पुलिस को 2 सितंबर को ट्रांसफर किया गया था और एसएसपी प्रदीप कुमार राय द्वारा यह मामला विवेचना अधिकारी सीओ रानीखेत को नियुक्त कर घटना के बारीक से जांच करने के निर्देश दिए गए थे।

सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा ने जेल में बंद तीनों आरोपियों से पूछताछ की थी. साथ ही इस मामले में घटनास्थल से फोरेंसिक टीम के साथ कुछ साक्ष्य भी एकत्र किए थे. पूछताछ और सबूतों के आधार पर जगदीश चंद्र की हत्या के मामले में दो और लोगों की संलिप्ता सामने आई।

पुलिस की जांच में सामने आया कि जगदीश की हत्या में नंदन सिंह एवं नरेंद्र सिंह भी शामिल थे. जगदीश की हत्या के बाद कुछ दिन बाद नंदन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. वहीं पुलिस ने आज नरेंद्र सिंह को उसके गांव से गिरफ्तार किया है. अल्मोड़ा एसएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि सीओ रानीखेत तिलक राम वर्मा जांच में सामने आया कि जगदीश चंद्र की हत्या के बाद तीन लोग युवती को लेने अल्मोड़ा आए थे, जिसमें एक नंदन सिंह था।

इसके अलावा नरेंद्र सिंह का भी नाम सामने आया, जो नंदन के साथ ही काम करता था. नंदन सिंह, गोविंद का दोस्त था. दोनों दिल्ली में साथ काम कर चुके हैं. हत्याकांड से एक दिन पहले नंदन ने गोविंद से मुलाकात की थी. और नंदन ने ही आरोपियों को जगदीश के पहुंचने की सूचना दी थी. हालांकि जगदीश चंद्र की हत्या के अगले दिन ही नंदन की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी।

ये है घटनाक्रम

 सल्ट के पनुवाधौखन निवासी दलित नेता जगदीश चंद्र पुत्र केश राम और भिकियासैंण निवासी गीता उर्फ गुड्डी ने बीते 21 अगस्त को गैराड़ मंदिर में प्रेम विवाह किया था. शादी से पहले गुड्डी अपने सौतेले पिता जोगा सिंह और सौतेले भाई गोविंद सिंह, भावना पत्नी जोगा सिंह के साथ रहती थी. दोनों का प्रेम विवाह गुड्डी के सौतेले भाई और पिता को रास नहीं आया।
एक सितंबर को जगदीश के ससुराल वालों ने जगदीश चंद्र को भिकियासैंण में पकड़ लिया था. उसके बाद वह लोग जगदीश चंद्र का एक गाड़ी से अपहरण कर ले गए. उसके बाद बेरहमी से जगदीश की हत्या कर दी. सूचना पर पुलिस और राजस्व की टीम ने देर शाम गाड़ी से जगदीश का लहुलूहान शव बरामद कर लिया था. इस मामले में पिता जोगा सिंह और सौतेले भाई गोविंद सिंह और भावना पत्नी जोगा सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. वहीं चौथी गिरफ्तारी 9 सितंबर को हुई है. पांचवें आरोपी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो चुकी है।

Comments are closed.