The Top Ten News
The Best News Portal of India

अच्छी खबर,उत्तराखंड से सटे नेपाल के कंचनपुर जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्ति की रिपोर्ट आई निगेटिव

चंपावत के सल्ली गाँव से नेपाल लौटने पर कोरोना संक्रमित मिला था नेपाल का इंद्र विश्वकर्मा

दीपक फुलेरा

दी टॉप टैन न्यूज़(चंपावत) उत्तराखण्ड की सीमाओं से लगे मित्र देश नेपाल के सीमान्त जिले कंचनपुर से एक अच्छी खबर आई है। 4 अप्रैल को कोरोना संक्रमित के रूप में चिन्हित हुए बेतकोट नगर पालिका वार्ड नम्बर 10 निवासी 41 वर्षीय इंद्र विश्वकर्मा की जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर सीमान्त नेपाल प्रसाशन ने राहत की सांस ली है।

विदित हो कि नेपाल के कंचनपुर जिले में कोरोना संक्रमित पाया गया नेपाली व्यक्ति उत्तराखण्ड के चम्पावत जिले के धौंन के पास पढ़ने वाले सल्ली गाँव से मजदूरी कर 23 मार्च को वापस नेपाल गया था। वही कंचनपुर जिले के पहले कोरोना संक्रमित व्यक्ति की रिपोर्ट निगेटिव पाए जाने की जानकारी नेपाल के महेन्द्रनगर नगर पालिका के मेयर सुरेंद्र सिंह बिष्ट द्वारा वीडियो कॉलिंग के माध्यम से हमारे विशेष संवाददाता दीपक फुलेरा को दी।

इसके साथ ही सुदूर पश्चिम प्रदेश की महेंद्रनगर  नगर पालिका के मेयर सुरेन्द्र बिष्ट व दीपक फुलेरा के मध्य हुई वार्ता में बताया कि वर्तमान में उत्तराखंड की सीमांत नगर पालिका क्षेत्र में लॉक डॉउन की वजह से फंसे भारतीय नागरिकों का नगर पालिका व नेपाल प्रशासन द्वारा भोजन पानी  स्वास्थ्य सम्बन्धी सभी सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है।इसके अलावा भारत से कार्य हेतु नेपाली उधमियों के वहाँ जो भी भारतीय कामगार है उनका ख्याल नेपाली उधमियों को रखने के निर्देश कर दिए गए है। इसके अलावा महेन्द्रनगर नगर पालिका द्वारा सीमान्त क्षेत्र में सर्वे भी किया जा रहा है कि कुल कितने भारतीय नागरिक इस वक्त उत्तराखण्ड से लगे सीमान्त नेपाल इलाके में मौजूद है। वही मेयर सुरेंद्र बिष्ट ने भारतीय प्रशासन को आश्वस्त भी किया कि नेपाल में इस वक्त लॉक डॉउन में ईंट भट्ठे,खनन क्षेत्र व अन्य स्थानों में फंसे हुए भारतीय नागरिकों की सुरक्षा व अन्य भोजन व रहने सम्बन्धी सुविधाओ का ख्याल महेंद्र नगर नगर पालिका प्रशासन व नेपाल प्रशासन आपसी सामंजस्य से कर रहा है।मेयर बिष्ट ने यह भी विश्वास दिलाया कि नेपाल से बेहद सटे भारतीय गांव थपलियाल खेड़ा व अन्य ग्रामीण इलाकों का भी नेपाल प्रशासन स्वास्थ्य व अन्य मामलों में ख्याल रखेगा। इस बात के सीमान्त प्रहरी टीम को निर्देश भी कर दिए गए है।

मेयर सुरेंद्र बिष्ट ने उत्तराखण्ड के उधम सिंह नगर,चम्पावत व पिथौरागढ़ सीमा क्षेत्र में फंसे नेपाली नागरिकों के नेपाल आने के सवाल पर कहा कि दोनों देशों के मध्य लॉक डॉउन की अवधि तक इस विषय को लेकर जब तक कोई फैसला नही हो जाता तब तक दोनों देशों के सीमान्त प्रशासन एक दूसरे के देशों के नागरिकों का ख्याल रखेंगे। वही उन्होंने विश्वास जताया कि उत्तराखण्ड का सीमान्त भी क्वारन टाइनसेंटरो में रह रहे नेपाली नागरिकों के स्वास्थ्य भोजन व अन्य सुविधाओं का बेहतर तरीके से ख्याल रखेगा।नेपाल मेयर सुरेंद्र सिंह बिष्ट ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए दोनों देशों के सीमान्त जनता व प्रशासन के आपसी सामंजस्य के अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर व लॉक डॉउन में घर पर रह इस महामारी से जितने की उम्मीद भी जताई।

Comments are closed.