शहीद कमल सिंह भाकुनी पंचतत्व में विलीन, कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने शहीद के पैतृक आवास पहुंचकर श्रद्धांजलि दी,कहा शहीद जवान के बलिदान को हमेशा याद रखा जाएगा

 

दी टॉप टेन न्यूज़ देहरादून

अल्मोड़ा : सोमेश्वर तहसील के चनौदा, बूंगा निवासी कमल सिंह भाकुनी का आज सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हो गया विगत 3 अप्रैल को शहिद कमल सिंह भाकुनी को मणिपुर में एक मुठभेड़ के दौरान गोली लग गई थी।

मात्र 24 साल की उम्र में देश के लिए शहीद होने वाले कमल सिंह भाकुनी 16 कुमाऊं रेजीमेंट के जवान मणिपुर में तैनात थे और 25 दिन पूर्व ही अपने घर चनौदा, बूंगा गांव से छुट्टियां बिताकर मणिपुर लौटे थे।शहीद के घर में उनके माता-पिता और एक बड़े भाई प्रदीप सेना में तैनात हैं।

शहीद कमल भाकुनी के अंतिम संस्कार में पूरा क्षेत्र नम आंखों से उमड़ पड़ा।वहीं आज प्रदेश सरकार की तरफ से कैबिनेट मंत्री व सोमेश्वर विधायक रेखा आर्या अपनी सोमेश्वर विधानसभा के चनोदा स्थित ग्राम बूंगा शहीद कमल भाकुनी के पैतृक निवास पहुंची जहां उन्होंने शहीद जवान के पार्थिव शरीर को नमन कर श्रद्धांजलि दी।इसके पश्चयात शहीद जवान के पार्थिव शरीर को आवास से लकड़ी पड़ाव स्थित शमशान घाट ले जाया गया।जहां पूरे रास्ते मे स्वर्गीय जवान कमल भाकुनी अमर रहें जयकार के नारों से समस्त क्षेत्र गुंजायमान हो गया।इस दौरान हर एक व्यक्ति की आंखे नम दिखाई दीं।

कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि नक्सली मुठभेड़ में अपने अदम्य साहस के साथ मातृभूमि की रक्षा के लिए वीरगति को प्राप्त होने वाले 16कुमाऊं रेजीमेंट में कार्यरत कमल सिंह भाकुनी की शहादत को वह शत शत नमन करती हैं।कहा कि एक और जहां हमें अपने शहीद की शहादत पर गर्व है वहीं उन्हें खोने का भी बेहद दुःख है।उन्होंने ईश्वर से पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने तथा शोक संतप्त परिजनों को सम्बल प्रदान करने की प्रार्थना की।

प्रदेश के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने भी कमल सिंह भाकुनी के शहीद होने पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए शोक संवेदना व्यक्त की है। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने ईश्वर, दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान देने और शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने की असीम शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

Verified by MonsterInsights