The Top Ten News
The Best News Portal of India

सफाई कर्मियों की एसडीएम से गुहार,बिन कारण निकाल दिया सरकार

नगर पालिका ने बिना नोटिस 85 कर्मियों को दिखाया बाहर का रास्ता

दी टॉप टैन न्यूज़ (खटीमा)- नगर पालिका खटीमा से बिना किसी कारण बताए निकाले गए 85 सफाई कर्मियों ने एसडीएम कार्यालय पहुँच एसडीएम से न्याय की गुहार लगाई है।पीड़ित सफाई कर्मियों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंप उनके साथ नगर पालिका प्रशासन द्वारा किये जा रहे शोषण की जानकारी भी दी है।

नगर पालिका प्रशासन खटीमा द्वारा पांच माह पूर्व अस्थाई रूप से नगर की सफाई व्यवस्था के लिए रखे गए 166 सफाई कर्मियों 85 कर्मियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। जिसके बाद पीड़ित सफाई कर्मियों ने एसडीएम खटीमा निर्मला बिष्ट से मुलाकात कर उनके साथ हो रहे शोषण पर न्याय करने की मांग की है।नोकरी से निकाले गए आक्रोशित सफाई कर्मचारियों ने एसडीएम निर्मला बिष्ट को बताया कि नगर पालिका द्वारा पांच माह पूर्व 166 सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की थी लेकिन अचानक से अब 85 सफाई कर्मचारियों को बिना कोई नोटिस दिए या कारण बताए नोकरी से बाहर कर दिया गया है। साथ ही पालिका प्रशासन द्वारा उन्हें पांच माह की सैलरी भी नही दी गई है। इसलिए अपने खिलाफ हो रहे शोषण को लेकर आज उन्होंने एसडीएम का घेराव कर न्याय की मांग की है।

वही नगर पालिका से निकाले गए पीड़ित सफाई कर्मियों ने चेतावनी भी दी कि अगर उन्हें प्रशासन से न्याय नही मिलता है तो वह सभी लोग हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाने को मजबूर हो जाएगा। जबकि एसडीएम निर्मला बिष्ट ने सफाई कर्मियों की गुहार पर कहा कि इस सन्दर्भ में नगर पालिका प्रशासन व बोर्ड से वार्ता कर सफाई कर्मियों की समस्याओं के समाधान की हर सम्भव कोशिश की जाएगी।वही गौरतलब है कि नगर पालिका खटीमा के नए बोर्ड द्वारा पांच माह पूर्व जंहा 166 सफाई कर्मियों को नियुक्ति थी वही तभी से इन कर्मचारी को इनकी तनख्वाह नही दी गई थी। जिसके लिए सफाई कर्मचारी हड़ताल भी कर चुके है। वही अब अचानक से 85 गरीब सफाई कर्मचारियों की नोकरी पर गाज गिरा नगर पालिका खटीमा ने सभी को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। जबकि आज भी इन सफाई कर्मियों को उनकी पांच माह का वेतन नही मिल पाया है। पीड़ित सफाई कर्मचारी अब प्रशासन से गुहार लगा न्याय की उम्मीद लगाए बैठे है

Comments are closed.