The Top Ten News
The Best News Portal of India

व्यवसायी संजय अग्रवाल ने स्वर्ग वाहन बना समाज को दिया सुंदर सँदेस

निर्धन व निशक्त जनों को निशुल्क शवो को श्मशान ले जाने की मिलेगी सुविधा

दीपक फुलेरा-
दी टॉप टैन न्यूज़(बनबसा)- इंडो नेपाल सीमा बनबसा के वरिष्ठ व्यवसायी व सामाजिक कार्यकर्ता संजय अग्रवाल ने  अनूठी पहल पेश की है।,उन्होंने निशक्त व निर्धन वर्ग के लिए स्वर्ग वाहन का करा समाज मे जंहा खूबसूरत उदाहरण पेश किया है। वही गरीबो व निशक्त जनों को मृत्यु उपरांत अपने परिजनों के शव स्वर्ग वाहन के माध्यम से  मुक्तिधाम तक निशुल्क ले जाने की सुविधा उनके द्वारा दी जाएगी।
 इंडो नेपाल बॉर्डर बनबसा के निवासी संजय अग्रवाल समाज में निर्धन व निशक्त जनों के लिए कुछ बेहतर करने वाले उन बिरले लोगो में है। जो अपने सामाजिक दायित्वों को निभा पूरे समाज को सुंदर सन्देश देने का काम करते है।अग्रवाल जंहा सामाजिक कार्यो में बढ़चढ़ कर योगदान देने वाले व्यक्तित्व के रूप में क्षेत्र में जाने जाते है। वही पिछले पांच सालों से लगातार निर्धन व निशक्त जनों के शवों को अपने वाहनों से निशुल्क मुक्तिधाम पहुँचाने का पुण्य कार्य को भी वह अंजाम दे रहे है। संजय अग्रवाल जंहा बनबसा के एक वरिष्ठ व्यवसायी व पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष रहे है वही अब उन्होंने अपने स्वयं के खर्चे से लाखों खर्च कर एक स्वर्ग वाहन का निर्माण कराया है। यह स्वर्ग वाहन बनबसा व उसके आसपास के क्षेत्रों के निर्धन व निशक्त जनों के परिजनों के शवों को निशुल्क रूप से मुक्तिधाम यानी श्मशान पहुँचाने की व्यवस्था करेगा।संजय बताते है कि कई निर्धन वर्ग ऐसा होता है जो निर्धनता की वजह से अपने परिजनों की मृत्यु हो जाने पर उन्हें श्मशान तक नही पहुँचा पाता है। 
इसलिए वह जंहा पिछले पांच सालों से ऐसे लोगो के शवों को अपने वाहनों से श्मशान पहुँचाने का काम करते है वही अब उन्होंने स्वर्ग वाहन का निर्माण कराया है। जिससे धूप बरसात कैसे भी हालातो में निर्धन लोग अपने परिजनों के शवों को निशुल्क रूप से श्मशान घाट ले जा सकेंगे।संजय जंहा लम्बे समय से इस तरह के सामाजिक दायित्वों को निभाते आ रहे है वही कई निर्धन लोगो का अंतिम संस्कार भी अपने खर्चे पर कर चुके है। संजय अग्रवाल की इस अनूठी पहल की जंहा स्थानीय निवासी व अमर उजाला समूह के वरिष्ठ पत्रकार विनोद काला  ने तारीफ की है वही इस तरह सामाजिक कार्यो से अन्य लोगो को भी निर्धनों के सहायतार्थ आगे आने की प्रेरणा मिलने की बात भी उन्होंने की है।फिलहाल संजय के सामाजिक दायित्वों के निर्वहन की जंहा पूरे सीमान्त क्षेत्र में चर्चा है। वही सभी वर्ग व सामाजिक संगठन से जुड़े लोग संजय अग्रवाल की इस पहल की भूरी भूरी प्रशंसा कर रहे है।

Comments are closed.