The Top Ten News
The Best News Portal of India

लॉक डॉउन बढ़ने पर सुप्रसिद्ध माँ पूर्णागिरि मेले को लेकर चम्पावत जिला प्रशासन ने क्या लिया बड़ा फैसला

16 मार्च को कोरोना संक्रमण को लेकर अग्रिम आदेशो तक स्थगित  किया गया था मेला

दी टॉप टैन न्यूज़(बनबसा)-

चम्पावत जिले के टनकपुर में हर वर्ष लगने वाले पूर्णागिरि मेले को लेकर चम्पावत जिला प्रशासन ने एक बार फिर बड़ा फैसला लिया है।कोरोना संक्रमण के चलते बीती 16 मार्च को जंहा आधिकारिक रूप चम्पावत जिला प्रशासन ने शासन की संस्तुति पर से पूर्णागिरि मेले को स्थगित किया गया था।वही एक बार फिर 3 मई तक लॉक डॉउन बढ़ने पर पूर्णागिरि मेले को लेकर जिलाधिकारी चंपावत एसएन पांडे की अध्यक्षता में एनएचपीसी के वीआईपी गेस्ट हाउस में प्रशासनिक अधिकारियों और पूर्णागिरि मेला मंदिर समिति के पदाधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन हुआ।

पूर्णागिरि मेले को लेकर आहूत इस बैठक में जिला अधिकारी एसएन पांडे ने गहन चर्चा और विचार-विमर्श के बाद पूर्णागिरि मेला की सभी व्यवस्थाओं को जिन्हें प्रशासन ने पूर्णागिरि मेले के मद्देनजर स्थापित किया था उन्हें तत्काल प्रभाव से वापस लेने के निर्देश दे दिए|  जिलाधिकारी चम्पावत ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते लोग डाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है| 3 मई के बाद स्थितियां क्या होंगी इसको लेकर निश्चित रूप से अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता| इसलिए प्रशासन को मेले की सभी व्यवस्थाओं को वापस लेना पढ़ रहा हैं|

उन्होंने कहा कि पूर्णागिरि मेला आधिकारिक रूप से 11 मार्च 2020 को प्रारंभ हुआ था लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के चलते इसे 16 मार्च को शासन की संस्तुति पर स्थगित कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि लोक डाउन के चलते 575 लोग विभिन्न राहत शिविरों और आइसोलेशन सेंटरों में क्वॉरेंटाइन किए गए हैं| यह लोग तब तक यहीं पर रहेंगे जब तक लोग डाउन जारी है| उन्होंने बताया कि राहत शिविरों आइसोलेशन सेंटरों मैं रखे गए सभी लोगों का प्रशासन पूरा ध्यान रख रहा है| उन्हें अच्छा भोजन उपलब्ध कराने के साथ ही उनके लिए साक्षरता अभियान योगा और मनोरंजन आदि के कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं|

इसके अलावा जिला प्रशासन के अनुसार क्वारन टाइन किये गए लोगो की काउंसलिंग भी की जा रही है| फिलहाल राहत शिविरों और आइसोलेशन सेंटरों में रखे गए 575 लोगों में से 236 लोग  निरक्षर हैं| जिनके लिए प्रशासन ने साक्षरता अभियान चलाया हुआ है| उन्होंने बताया कि इन 236 लोगों को साक्षर कर कर ही भेजा जाएगा| और सभी 276 लोगों को 25 अप्रैल को साक्षरता का प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा|

बैठक में जिला अधिकारी एस एन पांडे के अलावा पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह, एडीएम टीएस मर्तोलिया, एसडीएम पूर्णागिरि तहसील दयानंद सरस्वती, सीएमओ आर पी खंडूरी, पुलिस क्षेत्राधिकारी टनकपुर बी सी पंत,  जिला पंचायत चम्पावत एएमए राजेश कुमार, तहसीलदार टनकपुर खुशबू पांडे, थानाध्यक्ष बनबसा जसवीर सिंह चौहान,  पूर्णागिरि मेला समिति के अध्यक्ष भुवन चंद पांडे आदि लोग मौजूद रहे|

Comments are closed.