The Top Ten News
The Best News Portal of India

बीजेपी प्रदेश कार्यालय में डेंगू ने दी दस्तक

प्रदेश  महामंत्री सहित चार डेंगू की चपेट में

दी टॉप टैन न्यूज़ (देहरादून)- उत्तराखण्ड प्रदेश की राजधानी देहरादून में डेंगू का प्रकोप अब विकराल होता जा रहा है। डेंगू गली मोहल्लों में अपना कोहराम मचाता हुआ अब सत्ता की चौखटों तक भी पहुँचने लगा है।डेंगू के डंक ने भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश महामंत्री सहित चार कर्मचारियों को अपने चपेट में ले लिया जाए। जिस खबर के बाद अब महामारी बनने की ओर अग्रसर डेंगू की रोकथाम को लेकर सरकारी मशीनरी हरकत में आई है।

देहरादून भाजपा प्रदेश कार्यालय से मिले सूत्रों की माने तो डेंगू के डंक ने अब भाजपा प्रदेश कार्यालय में भी अपनी दस्तक दे दी है। भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र सिंह भंडारी व चार अन्य स्टॉप भी डेंगू की चपेट में आ गया है। जंहा इन सभी का इलाज चल रहा है वही डेंगू से नासाज हुए राजेन्द्र भण्डारी के स्वास्थ्य में अब पहले से सुधार आया है। डेंगू की चपेट में आने के बाद फिलहाल व अपने आवास पर आराम फरमा रहे है। वही सूत्रों की माने तो देहरादून प्रवास के दौरान सीमान्त के एक विधायक भी कुछ दिन पहले डेंगू के डंक की चपेट में आ गए थे। वही तीन चार तीन अस्पताल में रहने के बाद फिलहाल उनके स्वास्थ्य में आराम है। लेकिन देहरादून सहित प्रदेश की जनता डेंगू की बीमारी को झेलने को मजबूर दिख रही है।

देहरादून में आम लोगो को जंहा लगातार डेंगू का मच्छर अपनी चपेट में ले रहा है। वही पिछले एक सप्ताह में ही डेंगू के मरीजो में अच्छा खासी बढ़ोत्तत्री हुई है।वही आमजनता के साथ जंहा अब नेताओ के भी डेंगू की चपेट में आने की खबरें जैसे जैसे सामने आ रही है। वही सरकार से भी अब अपनो को डेंगू की डंक की पीड़ा मिलने के बाद थोड़ा एक्शन में आने की खबरे मिल रही है। फिलहाल देहरादून के गली मोहल्लों में जंहा फॉगिंग के निर्देश हुए है। वही डेंगू के मरीजो की बढ़ती स्थिति को देखते हुए उसे नियन्त्रित करने के कवायत शुरू हो गई है। फिलहाल भाजपा का प्रदेश कार्यालय ही जंहा डेंगू के डंक से नही बच पाया है वही अंदाजा लगाया जा सकता है कि देहरादून की गली मोहल्लों व बस्तियों में डेंगू ने कितना कोहराम मचा रखा होगा।सरकार द्वारा देहरादून में डेंगू के महामारी बनने की ओर अग्रसर होने के बावजूद भी जंहा अभी तक कोई ठोस कदम या इसकी रोकथाम हेतु कोई भी प्रचार प्रसार का सहारा नही लिया गया था। वही अब जब डेंगू के मच्छरों ने नेताओं को ही निशाना बना अपनी उपस्थिति दर्ज कराई हो तो उसके बाद सरकार व सिस्टम से ये उम्मीद हो सकती है कि मच्छरों की रोकथाम को सरकार जल्द कुछ ना कुछ ठोस कदम उठाएगी।

Comments are closed.