The Top Ten News
The Best News Portal of India

नेपाल बॉर्डर पर चीनी व तिब्बती नागरिक आखिर क्यों हुए गिरफ्तार?

आव्रजन अधिकारी व बनबसा पुलिस को बड़ी सफलता

दीपक फुलेरा-
दी टॉप टैन न्यूज़(चम्पावत)-
उत्तराखण्ड की भारत- नेपाल सीमा पर एक बार फिर से चीनी व तिब्बती नागरिक बनबसा बॉर्डर पर नेपाल से भारत मे अवैध रूप प्रवेश करते दबोचे गए है।बनबसा नेपाल सीमा पर आव्रजन अधिकारी इन्दर सिंह व बनबसा बैराज पुलिस चौकी इंचार्ज गोविंद बिष्ट द्वारा संयुक्त चेकिंग के दौरान दोनों विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है।दोनों विदेशियों के पास से वीजा व पासपोर्ट बरामद नही हुआ है।
पुलिस अधिकारियों को पूछताछ के आधार पर पता चला कि दोनों नेपाल से देहरादून जाने को लेकर बनबसा नेपाल बॉर्डर से भारत मे प्रवेश कर रहे थे।चीनी नागरिक की पहचान उसके मोबाइल में मिली पासपोर्ट की फोटो के आधार पर गोसोंग के रूप में हुई है। वही दूसरे विदेसी नागरिक के रूप में पकड़े गए तिब्बती लामा का नाम टी सेवांग सांगपो है।वही इमिग्रेशन कंट्रोल सिस्टम से चेक करने पर यह भी पता चला है कि पकड़ा गया चीनी नागरिक वर्ष 2017 में 3 महीने के वैलिड वीजा पर भारत आ चुका है।दोनों विदेशी नागरिकों को भारत सीमा पर वेध दस्तावेज ना होने की वजह से बनबसा पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है वही उनसे बिना दस्तावेज के भारत मे प्रवेश किये जाने की वजहों का भी सुरक्षा एजेंसियां पता लगा रही है।

हम आपको बता दे कि इससे पहले भी बनबसा बॉर्डर पर वर्ष 2019 जुलाई माह में चार चाइनीज नागरिकों के साथ एक तिब्बती नागरिक को आव्रजन चेक पोस्ट पर वेध दस्तावेजो के ना होने पर दिल्ली से नेपाल जाते हुए गिरफ्तार किए गए थे।वही इसी महीने में अमरीकी मूल की एक पाकिस्तानी महिला भी बिना वीजा व पासपोर्ट के आव्रजन अधिकारियो की पकड़ में आई थी।जबकि 30 अप्रैल 2019 को एक इजरायली नागरिक को भी  आव्रजन चेक पोस्ट बनबसा में बिना दस्तावेज के गिरफ्तार किया गया था।वही अब फिर से एक बार बनबसा बॉर्डर पर चाइनीज व तिब्बती नागरिक के बिना दस्तावेजो के गिरफ्तार होने से सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर आ गई है। कि आखिरकार लगातार बिना दस्तावेजो के विदेशी नागरिक बनबसा बॉर्डर का ही क्यों आवागमन में प्रयोग कर रहे है।
फिलहाल बनबसा थानाध्यक्ष जसवीर सिंह चौहान ने इस मामले में मीडिया को बताया है की चीनी व तिब्बती नागरिक द्वारा नेपाल से भारत बिना वैध दस्तावेजो के  प्रवेश करते समय संधिग्ध मानते हुए गिरफ्तार किया गया है।फिलहाल उनके खिलाफ पासपोर्ट व विदेशी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।वही उनसे पूछताछ भी की जा रही है कि बिना पासपोर्ट वीजा के वह आखिरकार भारत किस उद्देश्य हेतु ज

Comments are closed.